• रेस्क्यू सेंटर में रखे जाएंगे दो हजार 'अल्फा' बंदर, इस योजना पर 55 करोड़ रुपये होंगे खर्च

    ताजमहल में बंदरआगरा के कीठम में भालू संरक्षण केंद्र और चुरमुरा में हाथी कैंप की तरह ही शहर के उत्पाती, खूंखार बंदरों को अलग जगह पर रखने के लिए रेस्क्यू सेंटर बनाया जाएगा। बंदरों के बंध्याकरण की जगह इन्हें रेस्क्यू सेंटर बनाकर रखने का प्रोजेक्ट बनाया गया है, जिसमें शहर के 2 हजार से ज्यादा अल्फा बंदरों को पकड़ कर रखा जाएगा। इस सेंटर के लिए कीठम के पास और मथुरा के गोवर्धन में 25 से 30 एकड़ जमीन की तलाश की जा रही है।
     
    शहर में ताजमहल, सिकंदरा, एसएन मेडिकल कॉलेज, बेलनगंज, रावतपाड़ा, दरेसी, किनारी बाजार, जामा मस्जिद, आगरा किला समेत ज्यादातर जगहों पर बंदरों का आतंक है। इन बंदरों को पकड़ने के लिए वाइल्ड लाइफ एसओएस ने नया प्रोजेक्ट तैयार किया है, जिस पर 55 करोड़ रुपये खर्च होंगे। शुरुआती योजना में 2 हजार खूंखार बंदरों को पकड़ा जाएगा। 

    कीठम या जिले में कहीं भी 25 से 30 एकड़ जमीन पर यह सेंटर बनाया जाएगा, जहां बंदर रखे जाएंगे और उनके भोजन आदि की व्यवस्था रखी जाएगी। गोवर्धन में मयूर संरक्षण केंद्र के पीछे वाली जगह पर भी इस सेंटर को बनाने का प्रस्ताव भेजा गया है।
  • You might also like

    No comments:

    Post a Comment