• संजीवनी हॉस्पिटल आगरा फिर से चर्चाओं में

    आगरा में प्रसूता की मौत के बाद डॉक्टर और स्टाफ हॉस्पिटल से भागे, परिजनों ने डॉक्टर पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया है। साथ ही प्रसूता की मौत के बाद एक लाख रुपये का बिल बनाने से परिजनों का आक्रोश पफूट पडा। पुलिस फोर्स ने लोगों को समझा बुझाकर शांत किया, पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच कर रही है। 
    थाना सिकंदरा राऊ क्षेत्र स्थित सलेमपुर निवासी मेघराज ने अपनी पत्नी देवी को रविवार को संजीवनी हॉस्पिटल, यमुना पार में भर्ती कराया था। आपरेशन से बेटा हुआ, इसके बाद से देवी की तबीयत बिगडती चली गई, शनिवार को मौत होने पर परिजन भडक गए, उन्होंने डॉक्टर पर लापरवाही के आरोप लगाते हुए हंगामा किया। 
    एक लाख रुपये का बना दिया बिल 
    परिजनों का आरोप है कि छह दिन से डॉक्टर उन्हें गुमराह करते रहे, तबीयत में सुधार न होने के बाद भी कहते रहे कि पहले से फायदा है और एक लाख रुपये का बिल बना दिया। सुबह कह दिया कि मौत हो गई है। आक्रोशित परिजनों के हंगामे के बाद डॉक्टर और स्टापफ हॉस्पिटल से भाग खडा हुआ। 
    हॉस्पिटल की जांच 
    मामला गर्माने पर पुलिस फोर्स के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम भी पहुंच गई है। परिजनों को समझा बुझाकर शांत कर दिया, मामले की जांच की जा रही है।....................................................................................................................................Jan Samachar News in Agra ( जन समाचार आगरा )
  • You might also like

    No comments:

    Post a Comment