• श्री बांकेबिहारी अस्पताल में प्रसूता की मौत के बाद परिजनों ने मचाया हंगामा, कंपाउंडर ने किया था ऑपरेशन

    हंगामा करते मृतका के परिजनआगरा के श्री बांकेबिहारी अस्पताल में मरीज भर्ती पर रोक के बावजूद प्रसूता का ऑपरेशन कर दिया गया। इससे उसकी मौत हो गई। मंगलवार को आक्रोशित परिजन शव लेकर अस्पताल पहुंच गए और हंगामा खड़ा कर दिया। सूचना मिलते ही पुलिस पहुंच गई। परिजनों को समझाने का प्रयास कर रही है।

    सिकंदरा निवासी अरुण कुमार की पत्नी राधा देवी (25) को प्रसव पीड़ा होने पर बोदला-सिकंदरा रोड स्थित श्री बांके बिहारी अस्पताल में 29 मई को भर्ती कराया गया। अरुण कुमार का आरोप है कि सामान्य डिलीवरी में जान का खतरा बताते हुए अस्पताल की आया और कंपाउंडर ने पत्नी का ऑपरेशन कर दिया।

    ऑपरेशन के बाद पत्नी कोमा में चली गई। इस पर यहां के स्टाफ ने एंबुलेंस बुलाकर स्पर्श मल्होत्रा अस्पताल भेज दिया। यहां भी हालत न सुधरने पर जयपुर रेफर कर दिया गया, जहां सोमवार रात राधा की मौत हो गई। मंगलवार सुबह जयपुर से राधा का शव लेकर परिजन सीधे श्री बांकेबिहारी अस्पताल पहुंच गए।

    परिजनों ने मृतका का शव अस्पताल के बाहर रख दिया और हंगामा करने लगे। पुलिस मौके पर पहुंच गई है। बता दें कि श्री बांकेबिहारी अस्पताल में 16 मई को प्रशासन की टीम ने छापा मारा था। इसके बाद अस्पताल में मरीज भर्ती करने पर रोक लगा दी गई थी।

     Despite the ban on admit of patients in Agra's Bankak Bihari Hospital, the delivery of the operation was done. this caused his death. On Tuesday, the angry family took the body and reached the hospital and created a ruckus. The police arrived after getting the information. Trying to explain to the family.

    Arda Kumar's wife Radha Devi (25), resident of Sikandra, was admitted on 29th May at the Shri Bankhe Bihari Hospital, located at Bodla-Sikandra Road, after suffering labor. Arun Kumar alleges that in the normal delivery, the hospital was threatened with life threat and the compounder operated the wife.

    After the operation, the wife went to coma. On this, the staff here called an ambulance and sent it to Tam Malhotra Hospital. Even here, the situation was referred to Jaipur, where Radha died on Monday night. On Tuesday morning, the victim was taken to the Shri Bankee Bihari Hospital with the body of Radha from Jaipur.

    The family kept the bodies of the dead outside the hospital and started committing a ruckus. The police have reached the spot. Let me know that on 16th May, the administration team was raided at the Mr. Bankee Bihari hospital. After this the patients were banned from recruiting patients in the hospital.....................................................................................................................................Jan Samachar News in Agra ( जन समाचार आगरा )
  • You might also like

    No comments:

    Post a Comment